Home / Hindi Reviews / कोंग स्कल आइलैंड मूवी समीक्षा -Review

कोंग स्कल आइलैंड मूवी समीक्षा -Review

कोंग स्कल आइलैंड स्कल आइलैंड एक शानदार उदहारण है एकराक्षस को लाया जाये चलचित्र

कोंग स्कल आइलैंड

राक्षस वाली चलचित्रे दो तरह में बट्ठी है : एक जो राक्षस को दिखा के उसका परिचय करवा के पूरा वक़्त उसी के

कहानी में बिताते है | अब तक सारे किंग कोंग फिल्म्स इसी वर्ग में पड़ते है |

"कोंग स्कल आइलैंड " जो है वो किंग कोंग को तक़रीबन बीस मिनट बाद किंग कोंग को बड़े परदे पे लाती है और

उसके बाद पुरे एक्सो बीस मिनट तक उसी पे रखते है | एक समय तोह ऐसा भी आता है जब एक चरित्र उसकी

पुरानी कहानी बताता है जब एक बार वो तरह तरह के जानवरो से लड़ता है वीरता से |

जॉर्डन वॉट-रॉबर्ट्स'स का जो यह किंग कोंग का संस्करण है रोमांस को राजनीति में बदल देते है जो इस फिल्म को

और रोमांचक बनाती है | कोंग आइलैंड 1973 की टाइम पे है और वियतनाम युद्ध के बाद है | प्रेस्टन पैकर्ड

(शमूएल ल जैक्सन) उनके फौजियों के साथ स्कल आइलैंड में जाते है उसके छुपे हुए किस्से जान्ने के लिए |

इस फिल्म में सारे राख्षसो के खाने के लिए है तोह सबका नाम यहाँ बता के कोई फ़र्क़ नहीं पढ़ने वाला | सबसे

मुख्य चरित्र जो शक्ति शाली , दिमाग से सबसे तेज़ चुप चाप ब्रिटिश SAS अफसर है जो है टॉम हिडडलस्टोन

जिसका लाजवाब अभिनय है और कहानी में जान डालते है | शमूएल एल जैक्सन एक स्पेशल फोर्सेज कर्नल है

जिनको कोंग को मारने का सपना है |जॉन गुडमैन एक काल्पनिक का अभिनय करते है जो समझते है की जो

जानवर कोंग आइलैंड में है वो सब डायनासोर के युग के है

kong skull island

कोंग एक एम् एम् ऐ फाइटर के तरह लड़ता है

ये तोह आपने सुना ही होगा जो ये नए वाले किंग कोंग है उनका और गोड्जीला का एक ही ब्राह्मण है | जिसने

बनाया है रखससो को बहोत ही खुद बनाया है | और जो ऑडियो और विडियो इफेक्ट्स लगाए गए है इस फिल्म

में उन्हें अनुभव करके लगता है की सब कुछ बिकुल असली है | कोंग अपने दुश्मयो को एक कुश्ती वीर के तरह

कुचलता है अपने दातो और हाथो से | उसके दुश्मन में एक विराट ऑक्टोपस , बिना पंक वाले जानवर और एक

बन्दूक वाली जहाज़ की सेना पढ़ती है | जबभी लड़ाई शुरू होती है , और जानवर जोकि पानी वाला सांड , कीड़े

मकोड़े जोकि विशाल है आ जाते है |

बाद में पता लगता है किस स्कल आइलैंड को अलग अलग बयानों जो वह खुद ही नहीं जानता | उसमे साड़ी

पॉपुलर संस्कृति दी हुई है राजनीति दी हुई है जिसका कोई मतलब नहीं | मूवीइ काफी मजेदार और अजीब है

कभी काबर जब वो बहोत ही क्लियर और डिस्पोजेबल चित्रे दिखाते है

हम vs वो

kong skull island
अब इस समय में जो फिल्म की आत्म केंद्रित विचार है जो अमेरिकन को अमेरिकन्स और दुसरो को राक्षस हाथी

जानवर कीड़े मकोड़ो के अनदेखा कर दिया गया | कुछ आदिवासी आदमी है जो किंग कोंग को अपने भगवान्

मानते है | किसे पता शायद कोंग सही में वहां और एक कहानी है कोल्ड वॉर को लेकर जो बता ता है की कोंग सही

में एक अच्छा आदमी है की एक दानव |

कोंग आइलैंड का मज़ा है बड़े परदे पे देखने का और एक बच्चे के नज़रिये से देखने का | कोंग खुद ही एक काम

करैक्टर है एक बाल वाले जानवार से जो भी मूवी ने दिखाया है और समय समय में जो बदलता है | हर बार की

तरह कोंग एक लाजवाब एक्शन हीरो है लेकिन इस फिल्म ने उसको वो मुकाम नहीं दिया रोमांस और एक्शन

दिखने के लिए |

यह कोंग कुछ और चाहता है पर आप बोलना भी चाहोगे की उसे अगली बार का इंतज़ार करना चाहिए |

About khan

Freelance Author. Loves Nature .Keep it Simple

Check Also

Qarib-Qarib-Singlle-Movie-review

Movie Review: Qarib Qarib Singlle

Movie Review: Qarib Qarib Singlle The dynamics of relationships have undergone a change but it’s …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar